बागेश्वर- सोपस्टोन खनन परियोजना स्वीकृत से पहले DM ने गांव में जाकर की जनसुनवाई , video

ख़बर शेयर करें –

Bageshwar News: गरूवा सिरमोली काण्डा में सोप स्टोन खनन परियोजना स्वीकृत से पहले जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने गुरूवार को गांव में जाकर क्षेत्रवासियों से वार्ता कर जन सुनवाई की।

जन सुनवाई के दौरान जनता से आपत्तियॉ, समस्या के साथ ही सुझाव भी लिए। उन्होंने खदान परियोजना प्रस्तावक जगदीश लोहनी को ग्रामीणों की सहमति पर नियम व शर्तो के तहत कार्य करने के निर्देश मौके पर दिए, जिस पर मैसर्स जगदीश लोहनी ने कहा कि क्षेत्रवासियों के हित में कार्य किया जायेगा, तथा स्थानीय लोगों को रोजगार देने के साथ ही उन्हें सुविधायें दी जायेंगी।

जन सुनवाई में ग्राम प्रधान गुलाब राम ने खनन पर सहमति जताते हुए पंचायत घर की टपकती छत को ठीक कराने, बच्चों के विद्यालय जाने वाले रास्तों की मरम्मत कराने व स्थानीय लोगों को रोजगार देने का अनुरोध किया। अध्यक्ष युवक मंगल दल कमल भौर्याल ने स्थानीय लोगों को रोजगाार देने, पेयजल स्रोत व पैदल रास्ते ठीक करने, पौधारोपण कराने के साथ ही ग्रामीणों का जीवन स्तर बढाने के लिए धनराशि जन सुविधा हेतु गांव में ही व्यय करने का अनुरोध किया।

जिलाधिकारी ने खनन पट्टा परियोजना प्रस्तावक जगदीश लोहनी को जनता के साथ मिलकर व उन्हें विश्वास में लेकर कार्य करने के निर्देश देते हुए प्राथमिक विद्यालय गणेशपुर व प्राथमिक विद्यालय गरूवा सिरमोली में फर्नीचर, रंगरोगन, कम्प्यूटर देने के निर्देश दिए साथ ही खनन क्षेत्र में पौधारोपण क्षेत्रीय महिलाओं के माध्यम से कराने के निर्देश दिए। उन्होंने एसइआर मद में धनराशि बढाने के निर्देश देते हुए ग्रामीणों को सोलर लाईट, सडकों का रखरखाव, जल स्रोतो का संरक्षण, धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम व चिकित्सा सुविधायें मुहैया कराने के निर्देश दिए। उन्होंने खनन कार्य पूर्ण शर्तो व नियमानुसार करने के निर्देश मौके पर दिए।

इससे पूर्व खनन पट्टा परियोजना प्रस्तावक ने पट्टा संबंधित विस्तृत जानकारियॉ जैसे खनन पट्टे का क्षेत्र प्रस्तावित सोप स्टोन उत्पादन, वित्तीय एवं सामाजिक लाभ, पर्यावरण स्थिति, पौधारोपण के बारे में गांव वासियों को विस्तृत जानकारियां दी। साथ ही उन्होंने बताया कि प्रस्तावित सोप स्टोन खनन परियोजना में गांव के विद्यालयों, धार्मिक स्थलों को रख-रखाव, सोलर लैंप, सोलर स्ट्रीट लाईट, जल स्रोत संवर्द्धन एवं रास्तों का रख-रखाव किया जाएगा।

इसके उपरांत जिलाधिकारी ने जन समस्याएं सुनी। बीना पांडे ने राशन कार्ड आंनलाइन न होने के साथ ही चालू खदान मालिकों द्वारा रास्ते ठीक न करने, दीपा देवी ने राशन कार्ड में नाम न चढाने की शिकायत करते हुए नाम अंकित कराने का अनुरोध किया, जिस पर जिलाधिकारी ने 10 दिन के भीतर समस्याओं को दूर करने को आश्वासन ग्रामीणों को दिया। कमल भौर्याल ने उप्रेती माइंस द्वारा खेतों को नुकसान पहुंचाने के साथ ही खेतों में सुरक्षा दीवार लगाने का अनुरोध किया, खदान स्वामियों द्वारा गड्ढे ने भरने की भी शिकायत की, जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को जांच करने के निर्देश दिए।

इस दौरान क्षेत्रीय अधिकारी पर्यावरण, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड डॉ0 हरीश चन्द्र जोशी सहित ग्रामीण मौजूद थे।

Leave a Reply