उत्तराखंड- पेपर लीक प्रकरण में SIT को बड़ी सफलता , इस पूर्व भाजपा नेता को दबोचा

ख़बर शेयर करें –

देहरादून। उत्तराखंड एसआईटी को मिली बड़ी सफलता। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश ‘कोई भी नकल माफिया बचे नहीं’ इसको पूरा कर दिखाया है हरिद्वार की एसआईटी ने।

एसआईटी ने पेपर लीक प्रकरण में फरार चल रहे मुख्य आरोपी को किया गिरफ्तार। पेपर लीक प्रकरण में फरार चल रहे 50 हजार रुपये के इनामी पूर्व भाजपा नेता संजय धारीवाल को आखिरकार एसआइटी ने गिरफ्तार कर लिया है। उसके कब्जे से 4.25 लाख की नकदी और दो ब्लैंक चेक बरामद हुए हैं।

उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की पटवारी और जेई एई भर्ती परीक्षा का पेपर लीक करने के मामले में नारसन के मोहम्मदपुर गांव का प्रधान व भाजपा का पूर्व मंगलौर मंडल अध्यक्ष संजय धारीवाल एसआइटी की पकड़ से लगातार फरार चल रहा था। उसकी गिरफ्तारी पर आइजी गढ़वाल करण सिंह नागन्याल ने 50 हजार का इनाम घोषित किया था।

पेपर लीक में अब तक 38 गिरफ्तार

पटवारी व JE/AE दोनों प्रकरणों में गिरफ्तार अभियुक्तों की संख्या अब 38 पहुंच चुकी हैं पटवारी पेपर लीक प्रकरण में थाना कनखल पर दर्ज मे अपने गिरोह के साथ मिलकर पटवारी/लेखपाल एवं JE/AE भर्ती में अभ्यर्थियों से लाखों रुपए व ब्लैंक चैक प्राप्त कर गिरफ्तारी से बचने व गिरफ्तारी स्थगित कराने तथा सरेंडर का प्रयास कर रहे फरार मुख्य आरोपी अभियुक्त संजय धारीवाल पर आईजी गढवाल रेंज करण सिंह नगन्याल द्वारा 50,000/- (पचास हजार रुपए) का इनाम घोषित किया गया था।

फरार अभियुक्त को सलाखों के पीछे पहुंचाने के लिए लगातार दबिश दे रही S.I.T. टीम ने अभियुक्त को मुखबिर की सूचना पर नारसन से गिरफ्तार कर लिया है।वही आरोपी की निशांदेही पर अभ्यर्थियों को नकल स्थलों तक लाने व परीक्षा केन्द्रों तक ले जाने में प्रयुक्त वाहन एचआर 75 – 5692 को आरोपी संजय धारीवाल के घर से बरामद कर लिया है

आरोपी के भाई सुधीर के करनाल हरियाणा स्थित मकान से कुल 425000/- (चार लाख पच्चीस हजार रुपये) व दो ब्लैंक (हस्ताक्षरित) चैक बरामद किये गये है।

बताया जा रहा है कि आरोपी अभियुक्त द्वारा उक्त धनराशि में से एक लाख दस हजार रुपये पटवारी भर्ती तथा तीन लाख पन्द्रह हजार रुपये व दोनों चैक एई /जेई भर्ती से सम्बन्धित छात्रो से लिए गए थे।


Leave a Reply