देहरादून- राज्य में कोरोना ने फिर दी दस्तक ,नए मामलों में आया उछाल , देखें हेल्थ बुलेटिन

ख़बर शेयर करें –

देहरादून। उत्तराखंड में एक बार फिर से कोरोना संक्रमण पैर पसारने शुरू कर दिए हैं। कोरोना के नए संक्रमितों में फिर से उछाल आया है और संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है।

मंगलवार चार अप्रैल की शाम तक प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के नए 45 नये संक्रमित मिले। इससे एक दिन पहले सोमवार तीन अप्रैल को कोरोना के 30 नए संक्रमित मिले थे। राहत की बात है कि किसी मरीज की मौत नहीं हुई।

उत्तराखंड स्टेट कंट्रोल रूम देहरादून द्वारा जारी हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक राज्य में पिछले 24 घंटे के दौरान 48 नए संक्रमित मिले हैं जबकि 5 मरीज स्वस्थ हुए वही एक्टिव केस की संख्या 96 पहुंच चुकी है। पिछले 24 घंटे के आंकड़ों पर नजर डालें तो देहरादून जिले में सबसे अधिक 35 नए मरीज मिले हैं जबकि नैनीताल जिले में 6 और हरिद्वार में दो तथा पिथौरागढ़ और उधम सिंह नगर जिले में एक एक नया मरीज सामने आया है।

कोरोना से अब तक 7756 मौत

उत्तराखंड में एक जनवरी 2022 से लेकर अब तक कोरोना के कुल संक्रमितों की संख्या 104961 है। इनमें से 100711 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में पांच मरीज स्वस्थ हुए। अब एक्टिव मरीजों की संख्या 96 है। कोरोना की पहली लहर से लेकर अब तक प्रदेश में कुल 7756 लोगों की कोरोना से मौत हो चुकी है। वहीं, एक जनवरी 2022 से अब तक 338 लोगों की कोरोना से जान जा चुकी है। सात मई 2021 को सर्वाधिक 9642 नए कोरोना संक्रमित मिले थे। 15 मई 2021 को सर्वाधिक 197 मौत दर्ज की गई। तीसरी लहर में एक फरवरी 2022 को सर्वाधिक 18 लोगों की मौत दर्ज की गई।

  • उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर सरकार अलर्ट ,स्वास्थ्य मंत्री ने जारी किए निर्देश

देहरादून। कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए, स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत ने दिए निर्देश, कोविड जांच एवं वैक्सीनेशन में तेजी लाने के निर्देश,चारधाम यात्रा में सख्ती से लागू होगी कोविड गाइडलाइन,यात्रा मार्गों पर स्वास्थ्य सुविधओं को चाक-चौबंद करने के भी निर्देश, कई राज्यों में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुये, कोविड जांच व वैक्सीनेशन का दायरा बढ़ाया जायेगा,चार धाम यात्रा को देखते हुये भारत सरकार व राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर जारी कोविड गाइडलाइन को सख्ती से किया जायेगा लागू, यात्रा मार्गों पर डाक्टरों एवं पैरामेडिकल स्टॉफ की तैनाती 15 अप्रैल से पहले सुचिश्चित करने को कहा गया, जरूरत पड़ी तो बस अड्डे, रेलवे स्टेशन एवं एयरपोर्ट सहित सार्वजनिक स्थानों पर वैक्सीनेशन कैंप लगाये जायेंगे, ताकि कोई भी व्यक्ति कोरोना संक्रमण की चपेट में न आये।


Leave a Reply