उत्तराखंड- नशा मुक्ति केंद्र में युवक की मौत , सुबह-सुबह घर के बाहर छोड़कर चले गए शव

ख़बर शेयर करें –

देहरादून। पटेलनगर के चन्द्रमणि स्थित नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती युवक की मंगलवार सुबह मौत हो गई। 24 वर्षीय सिद्धार्थ की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के बाद नशा मुक्ति केंद्र के कर्मचारी आज सुबह के वक्त शव को उसके क्लेमेंटाऊन थाना क्षेत्र के टर्नर रोड स्थित घर के बाहर छोड़ गए। जिससे हंगामा हो गया। सूचना पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने बमुश्किल मामला शांत कर युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

परिजनों के मुताबिक नशा छुड़ाने के लिए युवक को आराध्य नशामुक्ति केंद्र में भर्ती कराया था परिजनों ने आरोप लगाया कि युवक के शरीर पर चोटों के निशान दिख रहे हैं वहीं मामले में एसएसपी ने आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिए हैं।

मृतक के भाई ने बताया कि सिद्धार्थ नशा करता था जिसके कारण उसे 20 मार्च को नशा मुक्ति केंद्र में भर्ती कराया था नशा मुक्ति केंद्र वालों ने उनसे 5000 रुपए प्रति महीना लिया था और 6 महीने इलाज करने की बात कही थी आरोप है कि नशा मुक्ति केंद्र उससे मिलने नहीं देते थे न ही फोन पर बात करने देते थे। सिद्धार्थ के माता पिता की कुछ समय पहले ही मौत हो चुकी है वो अपने बड़े भाई और चार बहनों के साथ क्लेमेंटटाउन के टर्नर रोड गली नंबर एक में रहता था, लेकिन आज करीब 7 बजे वो घर पर सो रहे थे इसी दौरान अचानक एक कार आई और उनके भाई को घर के बाहर फेंक कर चले गए वो सिद्धार्थ को कमरे के अंदर ले गए जहां उसकी सांस नहीं चल रही थी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम की कार्रवाई शुरू कर दी है वहीं इस घटना से परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।

Leave a Reply