उत्तराखंड- विजिलेंस की बड़ी कार्रवाई , दरोगा और चकबंदी पेशकार को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें –

  • विजिलेंस की टीमों ने हरिद्वार जिले में बड़ी कार्रवाई करते हुए दो अलग-अलग मामलों में पुलिस के एक दरोगा और चकबंदी पेशकार को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है।

Haridwar News: उत्तराखंड विजिलेंस का भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान जारी है इसी क्रम में विजिलेंस ने हरिद्वार जिले में पुलिस के एक दारोगा को 20 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़कर जेल भेजने का काम किया है। बताया जा रहा है कि आरोपी दरोगा ने 41 सीआरपीसी का नोटिस तामील कराने के नाम पर शिकायतकर्ता से 20 हजार की घूस मांगी थी। शिकायत की पुष्टि होने पर विजिलेंस ने जाल बिछाया और आरोपी दरोगा को रिश्वत की रकम के साथ धर दबोचा।

जानकारी के अनुसार मामला ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र का है।
दरोगा इंद्रजीत सिंह राणा इसी कोतवाली में तैनात है। विजिलेंस सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इंद्रजीत राणा धोखाधड़ी के एक मामले की जांच कर रहा था। इसी दौरान उसने 41 सीआरपीसी का नोटिस तामील कराने के नाम पर 20 हजार रुपये की घूस मांगी। मामले की शिकायत देहरादून विजिलेंस तक पहुंची तो विजिलेंस की टीम देहरादून से हरिद्वार पहुंच गई और आरोपी इंद्रजीत सिंह राणा को रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया।

देर रात तक ज्वालापुर कोतवाली में विजिलेंस ने दरोगा से पूछताछ भी की। पूछताछ और कागजी कार्यवाही पूरी करने के बाद टीम मध्य रात्रि में लेकर उसे देहरादून रवाना हो गई। विजिलेंस की कार्रवाई से अन्य पुलिसकर्मियों में भी हड़कंप मचा रहा।

पुलिस कप्तान अजय सिंह ने बताया कि दारोगा इंद्रजीत सिंह राणा को विजिलेंस ने 20 हजार रुपए लेते हुए गिरफ्तार किया है।

10 हजार की रिश्वत लेते पेशकार गिरफ्तार

हरिद्वार। उत्तराखंड विजिलेंस ने भ्रष्टाचार के खिलाफ एक और बड़ी कार्रवाई की रुड़की में सोमवार को विजिलेंस की टीम ने सीओ चकबंदी के दफ्तर में छापा मारा। इस दौरान टीम ने सीओ के पेशकार को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया।
जिले के रुड़की में विजिलेंस ने ट्रैप करते हुए राजेंद्र सिंह चौहान पुत्र गुलाब सिंह नि0 सहसा तह0 चकराता जि0 देहरादून हाल किरायेदार कृष्णा नगर गली न0 16 गंगनहर, रुड़की। जो की चकबंदी अधिकारी का पेशकार था को 10 हजार रुपए रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है।

Leave a Reply