उत्तराखंड: पिथौरागढ़ भूस्खलन में फंसे 40 आदि कैलाश यात्री व तपोवन में ट्रैकर्स दल को SDRF ने किया रेस्क्यू , video

ख़बर शेयर करें –

पिथौरागढ़/ उत्तरकाशी। उत्तराखंड एसडीआरएफ के विषम परिस्थितियों में अदम्य साहस का परिचय देते हुए देवदूत बनकर लोगों का जीवन बचा रहे हैं। इसी क्रम में एसडीआरएफ के जवानों ने पिथौरागढ़ जिले में भूस्खलन में फंसे 40 आदि कैलाश यात्रियों को सुरक्षित रेस्क्यू किया। वही उत्तरकाशी जिले के तपोवन में फंसे 7 सदस्यीय ट्रेकिंग दल को सुरक्षित रेस्क्यू किया।

घटनाक्रम के मुताबिक 1 जून को एसडीएम धारचूला द्वारा SDRF टीम को सूचित किया गया की गर्भधार के पास भूस्खलन हो रहा है जिसके कारण कुछ यात्री जो आदि कैलाश यात्रा से वापस लौट रहे थे, फंस गए है। यात्रियों के रेस्क्यू हेतु SDRF टीम कि आवश्यकता है।

उक्त सूचना पर SDRF टीम मुख्य आरक्षी नवीन कुमार के हमराह मय रेस्क्यू उपकरणों के तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हुई।

SDRF टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुऐ तत्काल घटनास्थल पर पहुँचकर देखा गया की पहाड़ी से लगातार पत्थर गिर रहे है। भूस्खलन के कारण मार्ग पर अत्यधिक मलवा आ गया था जिसे साफ कर यात्रा सुचारू होने में समय लगना था। ऐसे में SDRF टीम द्वारा मौसम के करवट लेने से पूर्व ही बिना समय गवाये फंसे हुए 40 यात्रियों को वैकल्पिक मार्ग से नदी किनारे से रोप की मदद से रेस्क्यू कर सुरक्षित KMVN गेस्ट हाउस धारचूला पहुंचाया गया। यात्रियों में कुछ बुज़ुर्ग व महिलाएं भी शामिल थी , जिन्हें टीम द्वारा अत्यंत विषम परिस्थितियों में पूर्ण सावधानी से सकुशल सुरक्षित स्थान पहुंचाया गया। सभी यात्रियों द्वारा विकट परिस्थिति में किये गए इस उत्कृष्ट कार्य के लिए SDRF उत्तराखण्ड पुलिस का हृदय से आभार व्यक्त किया गया।

जनपद उत्तरकाशी – तपोवन में फंसे ट्रैकरों को SDRF ने किया सकुशल रेस्क्यू

उत्तरकाशी। आपदा नियंत्रण कक्ष द्वारा SDRF टीम को सूचित किया गया था की 07 सदस्यीय ट्रेकिंग दल तपोवन में फंस गया है, जिनके रेस्क्यू हेतु SDRF टीम की आवश्यकता है।

उक्त सूचना पर SDRF टीम अपर उपनिरीक्षक पंकज घिल्डियाल के हमराह मय रेस्क्यू उपकरणों के तत्काल घटनास्थल के लिए रवाना हूई।

SDRF टीम द्वारा लगभग 24 किलोमीटर पैदल चलकर ट्रैकरों को खोज लिया गया। ट्रैकिंग दल में 01 गाइड, 03 ट्रैकर व 03 पोर्टर शामिल थे। यह ट्रैकिंग दल गंगोत्री से तपोवन की ओर जा रहा था की अचानक मौसम खराब होने के कारण सभी बीच रास्ते में फंस गये। SDRF द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुऐ ट्रेकिंग दल को रेस्क्यू कर सुरक्षित गंगोत्री लाया गया।

Leave a Reply